Breaking News

दो सप्ताह में ही टूटी निर्माणाधीन सड़क, विरोध में उतरे ग्रामीण, रायसेन के नयाखेड़ा का मामला


रायसेन/उदयपुरा:- 08 जनवरी 2021 (डालचंद लोधी)- मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपने आप को भले ही फॉर्म में बताते हों, और गड़बड़ी करने वाले भ्रष्टाचारियों को दस फुट जमीन में गाड़ने की बात कर रहे हों, लेकिन भर्ष्टाचार की जड़े इतनी गहरी है कि उन्हें उखाड़ फेंकना, चाहे मुख्यमंत्री ही क्यों न हों बड़ा मुश्किल होगा।

मुख्यमंत्री के इस बयान का असर राय सेन जिले की जनपद पंचायत उदयपुरा की ग्राम पंचायत नया खेड़ा में बन रहे सी सी सड़क पर लागू नहीं हो रहा है। रब्बू नोरिया के घर से नर्मदा की ओर बन रही सी सी सड़क कार्य पूरा होने से पहले ही दम तोड़ चुकी है 

सड़क की गुणवत्ता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है, कि दो सप्ताह पूर्व बनी सड़क में कई जगह दरारें पड़ गयी है।

गुडवत्ता हीन सड़क का ग्रामीण विरोध न करें, किसी प्रकार का शिकवा शिकायत न हो इसलिए सरपंच द्वारा सड़क में पड़ी दरारों में सीमेंट का घोल बनाकर दरारों को भर दिया गया है।

ग्राम की इसी सड़क का अवलोकन करने बड़ी संख्या में ग्रामीण एकत्रित हुए और सड़क निर्माण को देखा।

ग्रामीणों का कहना है कि सड़क निर्माण में बहुत भारी भ्रष्टाचार हुआ है, सड़क कई जगह से टूट रही है, संबंधित अधिकारियों को इस और ध्यान देना चाहिए।

सड़क में कई जगह गड्ढे हो गए है जिनमें गंदा पानी भरा रहता है, गंदगी से कई प्रकार की बीमारियां फैल रही है, लेकिन ग्रामपंचायत इस और कोई ध्यान नहीं दे रही।

सड़क निर्माण के सम्बंध में सरपंच से पूछा गया कि सड़क कितनी लागत से बन रही है, तो कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया, वहीं सरपंच प्रतिनिधि भी सवालों से बचते नजर आए, इससे अंदाजा लगाया जा सकता हैं कि इस सड़क निर्माण में कितना भ्रष्टाचार हुआ है।

सड़क निर्माण के भ्रष्टाचार को छुपाने सरपंच द्वारा सड़क में पड़ी दरारों और गड्ढों में सीमेंट भरकर अपने द्वारा किये गए भ्रष्टाचार को छुपाने के प्रयास किया जा रहा है, लेकिन अब जनता जागरूक हो चुकी है, और ग्रामीण इस सड़क में हुए भ्रष्टाचार के विरोध में सड़कों पर उतर आई है।

1 टिप्पणी: